नई दिल्ली। केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। इसी बीच सिंघू बॉर्डर के पास में एक युवक का शव लटका हुआ मिला है। जिसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई है। आंदोलनकारी किसानों के मुख्य मंच के पास में युवक का हाथ काटकर उसका शव लटकता हुआ मिला। जिसके बाद वहां पर हंगामा मच गया। जानकारी के मुताबिक शुरुआती जानकारी में निहंगों पर कुंडली इलाके में हुई हत्या का आरोप है। यह घटना शुक्रवार तड़के सुबह की बताई जा रही है। इस जानकारी के सामने आने के बाद हंगामा मच गया। हालांकि कुंडली पुलिस ने शव को बैरिकेड से उतारा और अस्पताल लेकर चली गई।
  युवक के शव पर धारदार हथियार के निशान मिले हैं। इतना ही नहीं युवक के हाथ की कलाई कटी हुई है और जमीन पर काफी ज्यादा खून बिखरा पड़ा है। डीएसपी हंसराज सोनीपत ने बताया कि सुबह 5 बजे थाना कुंडली में सूचना मिली कि जो किसान आंदोलन चल रहा है उसकी स्टेज के पास एक व्यक्ति के हाथ पैर काटकर मृत लटकाया हुआ है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों से पूछताछ की परन्तु अभी कुछ खुलासा नहीं हो पाया है। अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज़ कर जांच जारी है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा की अलग-अलग सीमाओं पर किसानों ने पिछले 10 महीने से केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ धरना दिया हुआ है। किसानों की सरकार से मांग है कि तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएं और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) कानून लाया जाए। हालांकि किसान और सरकार के बीच कई दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन कोई समाधान नहीं निकल पाया है।