सिमलीपाल राष्ट्रीय उद्यान के अधिकारियों ने एक नवंबर से एशिया का दूसरा सबसे बड़ा 'बायोस्फियर रिजर्व' जनता के लिए खोलने का फैसला किया है। एक आधिकारिक घोषणा में यह जानकारी दी गई। ओडिशा के मयूरभंज जिले में स्थित 'सिमलीपाल राष्ट्रीय उद्यान' 2,750 वर्ग किलोमीटर भूभाग में फैला हुआ है, जो मानसून को देखते हुए पर्यटकों के लिए बंद किया गया था, लेकिन मई 2021 में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर इसे खोला ही नहीं गया। इसमें 'सिमलीपाल टाइगर रिजर्व' (एसटीआर)  भी बना है। एसटीआर के 'फील्ड डायरेक्टर' एम योगजयानंद ने यह जानकारी दी।
अधिसूचना में कहा गया कि पर्यटकों को जशीपुर और पीथाबाटा के दो द्वारों से राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। 35 चौपहिया वाहनों को जशीपुर से राष्ट्रीय उद्यान में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी, वहीं 25 अन्य वाहनों को पीथाबाटा द्वार से सुबह छह से नौ बजे के बीच प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी। आवश्यक विवरण के सत्यापन के बाद लोगों को राष्ट्रीय उद्यान में आने की अनुमति दी जाएगी।