इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को 27 रनों से मात देकर चौथी बार इस खिताब पर कब्जा जमाया। चेन्नई की टीम 13 साल के अपने आईपीएल इतिहास में नौ बार फ़ाइनल में पहुंची, जिसमें से वह चौथी बार खिताब पर कब्जा जमाने में सफल रही। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई की टीम 2010, 2011 और 2018 में भी आईपीएल विजेता बनी थी। चेन्नई ने दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुएतीन विकेट पर 192 रनों का मजबूत स्कोर बनाया और फिर अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत कोलकाता को नौ विकेट पर 165 रनों पर रोक दिया। इस जीत के साथ ही चेन्नई ने 2012 के फाइनल में कोलकाता से मिली हार का बदला भी चूकता कर लिया। 

चेन्नई की इस खिताबी जीत के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी टीम की तारीफ करने से पहले विपक्षी टीम के प्रदर्शन की जमकर सराहना की। कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम  आईपीएल 2021 में भारत में खेले गए पहले लेग में सात में से केवल दो ही मैच जीत पाई थी और वो अंकतालिका में सबसे नीचे थी। लेकिन यूएई में खेले गए टूर्नामेंट के दूसरे लेग में टीम ने जोरदार वापसी की। टीम को आईपीएल 2021 के प्लेऑफ में पहुंचने के लिए सात में कम से पांच मैच जीतने थे और उसने ऐसा करते ही प्लेऑफ में जगह पक्की की। कोलकाता ने इसके बाद एलिमिनेटर में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को और फिर क्वालीफायर-1 में दिल्ली कैपिटल्स को हराकर फाइनल में कदम रखा।     

धोनी ने मैच के बाद कहा, 'इससे पहले कि मैं सीएसके के बारे में बात करना शुरू करूं, केकेआर के बारे में बात करने की जरूरत है। इस तरीके टूर्नामेंट में वापसी करना मुश्किल है, अगर कोई टीम आईपीएल जीतने की हकदार है, तो वह केकेआर है। केकेआर की टीम सही मायने में चैंपियन बनने की हकदार है। उनके कोच, टीम और सहयोगी स्टाफ को इसका बहुत बड़ा श्रेय जाता है। ब्रेक ने वास्तव में उनकी मदद की।

सीएसके के कप्तान ने इसके बाद अपनी टीम की सराहना करते हुए कहा, सीएसके में आकर, हमने खिलाड़ियों को बदलते हुए देखा। हमारे टीम में कई मैच विजेता खेल रहे थे और सभी लोग वास्तव में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। हर फाइनल विशेष है, अगर आप आंकड़ों को देखें, तो हम कह सकते हैं कि हम सबसे ज्यादा फाइनल हारने वाली टीम हैं मुझे लगता है खासकर नॉकआउट में मजबूत वापसी करना महत्वपूर्ण है। हम एक-एक प्लेयर के साथ अलग से बात कर रहे थे। उन्हें अलग-अलग हम प्रैक्टिस करा रहे थे। हमारे अभ्यास सत्र अच्छे रहे हैं।'