नई दिल्ली| इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 का पहला क्वॉलिफायर और एलिमिनेटर मैच किन-किन टीमों के बीच खेला जाएगा, इसका फैसला लगभग हो चुका है। मौजूदा प्वॉइंट्स टेबल के हिसाब से दिल्ली कैपिटल्स, चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) आधिकारिक तौर पर प्लेऑफ में पहुंच चुके हैं। प्वॉइंट्स टेबल में चौथे नंबर पर कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) है। आईपीएल 2021 के आखिरी दो लीग मैच आज ही खेले जाने हैं। पहला मैच सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियंस के बीच होगा और दूसरा मैच दिल्ली कैपिटल्स और आरसीबी के बीच। चलिए आपको हम बताते हैं कि इन दो मैचों के क्या मायने होंगे, क्या आरसीबी जीत दर्ज कर टॉप-2 में जगह बना सकती है या फिर क्या मुंबई इंडियंस जीत के साथ प्लेऑफ में पहुंच सकती है?

प्लेऑफ में पहुंचने के लिए क्या करना होगा मुंबई इंडियंस को
डिफेंडिंग चैंपियन मुंबई इंडियंस के खाते में 13 मैचों में 12 प्वॉइंट्स हैं, वहीं केकेआर के खाते में 14 मैचों में 14 प्वॉइंट्स हैं। मुंबई इंडियंस अगर सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत दर्ज करता है, तो उसके खाते में भी 14 मैचों में 14 प्वॉइंट्स हो जाएंगे, लेकिन नेट रनरेट के मामले में मुंबई इंडियंस केकेआर से बहुत ज्यादा पीछे है। मुंबई इंडियंस का नेट रनरेट -0.048 है, जबकि केकेआर का नेट रनरेट +0.587 है। ऐसे में मुंबई इंडियंस अगर अपना आखिरी लीग मैच कम से कम 170 रनों से जीतता है, तभी प्लेऑफ में पहुंच पाएगा। वहीं अगर मुंबई इंडियंस को पहले गेंदबाजी करने को मिलती है, तो टीम किसी भी तरह से प्लेऑफ में नहीं पहुंच पाएगी।

आरसीबी को टॉप-2 में पहुंचने के लिए क्या करना होगा
आरसीबी के खाते में 13 मैचों के बाद 16 प्वॉइंट्स हैं, जबकि अपने सभी 14 मैच खेल चुके सीएसके के खाते में 18 प्वॉइंट्स हैं। दिल्ली कैपिटल्स 20 प्वॉइंट्स के साथ टॉप पर अपनी जगह पक्की कर चुका है। अब ऐसे में आरसीबी सिर्फ सीएसके को पीछे छोड़कर टॉप-2 में पहुंच सकता है। इसके लिए विराट कोहली की कप्तानी वाले आरसीबी को दिल्ली कैपिटल्स को 163 रनों से हराना होगा।

आईपीएल 2021 का पहला क्वॉलिफायर और एलिमिनेटर मैच
पहला क्वॉलिफायर मैच 10 अक्टूबर को दुबई में खेला जाना है, यह मैच लगभग तय है कि दिल्ली कैपिटल्स और सीएसके के बीच खेला जाएगा। पहला क्वॉलिफायर जीतने वाली टीम डायरेक्ट फाइनल में पहुंचेगी। 11 अक्टूबर को एलिमिनेटर मैच आरसीबी और केकेआर के बीच खेला जाना लगभग तय हो चुका है। क्वॉलिफायर-1 की हारी हुई टीम और एलिमिनेटर मैच की जीती हुई टीम का मुकाबला 13 अक्टूबर को दूसरे क्वॉलिफायर मैच में होगा, यहां जो टीम जीतेगी वह फाइनल में पहुंच जाएगी।