लंदन । भारतीय महिला बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू को उम्मीद है कि कोरोना महामारी की नई लहर के बाद भी वह जनवरी की शुरुआत में  की यात्रा पर जा सकेंगी। सिंधु अभी यहां टोक्यो ओलंपिक के लिए पिछले दो माह से जारी अभ्यास शिविर में भाग ले रही हैं। उन्हें अपना पहला टूर्नामेंट थाईलैंड में खेलना है। दो सुपर 1000 प्रतियोगिताओं (12 से 17 जनवरी और 19 से 24 जनवरी) में हिस्सा लेने के लिए सिंधू को तीन जनवरी तक बैंकॉक पहुंचना होगा। सिंधू ने कहा,मैंने जनवरी के पहले हफ्ते में यात्रा की योजना बनाई है। थाईलैंड में ब्रिटेन से आने वालों के लिए यात्रा प्रतिबंध नहीं है इसलिए मैं दोहा से यात्रा कर सकती हूं। मैं खाड़ी के देशों के रास्ते थाईलैंड जाने की योजना बना रही हूं। वहीं भारत सहित कई देशों ने ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इंग्लैंड के कोरोना वायरस के नए मामले सामने आने के बाद यह कदम उठाया गया है। 
सिंधू अक्टूबर में लंदन गईं थी और वह ब्रिटेन के बैडमिंटन खिलाड़ियों टोबी पेंटी और राजीव ओसेफ के साथ राष्ट्रीय ट्रेनिंग केंद्र में अभ्यासा कर रही हैं। सिंधू ने कहा, मेरी ट्रेनिंग काफी अच्छी चल रही है। राष्ट्रीय केंद्र बंद नहीं है। इसे जैविक रूप से सुरक्षित केंद्र के रूप में चलाया जा रहा है, इसलिए मैं थाईलैंड में होने वाली प्रतियोगिताओं से पहले अभ्यास कर पा रही हूं। थाईलैंड चरण के साथ अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन की वापसी होगी हालांकि देश में लोकतंत्र समर्थक विरोध अभियान का सामना करना पड़ा है और हाल में वहां कोरोना के मामले भी बढ़े हैं।