देश में 20 महीने के लंबे इंतजार के बाद एक बार फिर से घरेलू बैडमिंटन सत्र की शुरुआत होगी। भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) ने बुधवार को घोषणा की कि अगले महीने से घरेलू बैडमिंटन सत्र की शुरुआत लगातार दो सीनियर रैंकिंग लेवल तीन के टूर्नामेंटों के साथ होगी। सत्र की शुरुआत चेन्नई में होगी और पहला टूर्नामेंट 16 से 22 दिसंबर तक खेला जाएगा। लेवल तीन का एक अन्य टूर्नामेंट हैदराबाद में 24 से 30 दिसंबर तक होगा।

दोनों प्रतियोगिताओं की कुल इनामी राशि 10-10 लाख रुपये है और ये बीएआई के नए घरेलू प्रारूप का हिस्सा हैं जिसे 2019 में स्वीकृति दी गई लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण लागू नहीं किया जा सका। चेन्नई प्रतियोगिता के लिए प्रविष्टयां भेजने की अंतिम तारीख 24 नवंबर जबकि हैदराबाद में होने वाले टूर्नामेंट के लिए एक दिसंबर है।

बीएआई के सचिव अजय सिंघानिया ने कहा कि घरेलू सत्र की शुरुआत कोविड से संबंधित सभी नियमों का पालन करते हुए होगी और टूर्नामेंट से पहले खिलाड़ियों को आरटी-पीसीआर परीक्षण की नेगेटिव रिपोर्ट देनी होगी।

सिंघानिया ने बयान में कहा, 'कोविड ने खेल ही नहीं बल्कि सामान्य रूप से जीवन को भी बाधित किया लेकिन हमें भारतीय घरेलू बैडमिंटन सत्र को फिर से शुरू करने की घोषणा करने की खुशी है। हमारे पास कुछ विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं और सभी खिलाड़ियों का कोर्ट पर वापस आना पूरे बैडमिंटन जगत के लिए अच्छी खबर है।'

सीनियर रैंकिंग टूर्नामेंट को तीन लेवल में वर्गीकृत किया गया है:

    लेवल तीन - बीएआई सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट (एक वर्ष में छह),

    लेवल दो- बीएआई सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट (एक वर्ष में छह),

    लेवल एक- बीएआई प्रीमियर सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट (एक वर्ष में दो)

घरेलू सीनियर रैंकिंग टूर्नामेंटों के लिए कुल दो करोड़ 20 लाख रुपये की इनामी राशि रखी गई है। लेवल तीन श्रेणी के टूर्नामेंट की इनामी राशि 10 लाख, लेवल दो के टूर्नामेंट की 15 लाख और प्रीमियर टूर्नामेंट की 25 लाख रुपये होगी। इसके बाद राष्ट्रीय चैंपिनशिप होगी जिसके लिए 50 लाख रुपये की इनामी राशि रखी गई है।