*प्रभातपट्टन ब्लाक के ग्राम मालेगांव के जंगल में मवेशी चराने गए ग्रामीण का  मिला शव,रीछ के हमले की चपेट मे आने की संभावना*

*तीन दिन से लापता ग्रामीण को खोजने में  जुटी थी  पुलिस और वनविभाग का अमला*

*मुलताई।*✍️ विजय खन्ना

प्रभातपट्टन ब्लाक के ग्राम मालेगाव के पास स्थित जंगल में मवेशी चराने गए एक ग्रामीण का जंगल में शव मिला है। ग्रामीण बीते तीन दिन से लापता था। ग्रामीण के  रीछ के हमले की चपेट में आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। हालांकि वन परिक्षेत्र अधिकारी ने पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही ग्रामीण की मौत की वजह का खुलासा होने  की बात कही है। प्रभातपट्टन पुलिस सहायता केंद्र प्रभारी उपनिरीक्षक अनिल राहोरिया ने बताया ग्राम मालेगाव निवासी संतोष पिता बीरबल बिहारे 55 साल 21 सितंबर को मवेशी चराने के लिए जंगल गया था। लेकिन देर रात तक घर नहीं लौटा। संतोष के लापता होने की सूचना पर पुलिस के साथ वनकर्मी और परिजन उसकी खोजबीन कर रहे थे। शुक्रवार सुबह खोजबीन के दौरान संतोष का शव जंगल में पड़ा मिला।
श्रीराहोरिया ने बताया संतोष के पैर,सिर और छाती में चोट के निशान हैं। संभवत संतोष पर वन्य प्राणी ने हमला किया है। परिजन की शिकायत पर गुम इंसान का प्रकरण दर्ज किया था। शुक्रवार संतोष का शव मिलने पर मर्ग कायम किया है। इस संबंध में वन परिक्षेत्र अधिकारी अशोक रहंगडाले ने बताया प्रथमदृष्टया संतोष पर रीछ के हमले की संभावना नजर आ रही है। मृतक संतोष के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वजह का खुलासा होगा।